STORIES for CHILDREN by Sister Farida

(www.wol-children.net)

Search in "Hindi":

Home -- Hindi -- Perform a PLAY -- 005 (God loves you)

Previous Piece -- Next Piece

नाटक -- अन्य बच्चों के लिए अभिनीत करो !
च्चों द्वारा अभिनय करने के लिए नाटक

5. परमेश्वर तुम से प्रेम रखता है


बच्चो ! कितनी बड़ी बात है कि तुम सुन रहे हो ! तुम्हारा स्वागत है !

आज तुम दु:खी हो या प्रसन्न ? क्या तुम अकेलापन या भय महसूस कर रहे हो ? तुम स्वस्थ हो या अस्वस्थ ?

मैं नहीं जानता कि तुम किस परिस्थिति में हो, परन्तु मैं तुम्हें एक आश्चर्यजनक बात बताना चाहता हूँ : परमेश्वर तुम से प्रेम करता है ! तुम जिस भी स्थिति में हों, वह तुम से प्रेम करता है ! जब जीवित परमेश्वर ने आस्मान और पृथ्वी की उत्पत्ती की, उस समय भी वह तुम्हारे बारे में सोच रहा था | तुम्हारे जन्म से पहले से ही वह तुम से प्रसन्न था |

(परमेश्वर के प्रेम पर आधारित कोई गीत यहाँ जोड़ दीजिये या कोई लड़का या लड़की उसे पार्श्र्व संगीत के साथ उच्च स्वर में गाये)

गीत :

यीशु छोटे बच्चों से प्रेम करते हैं, दुनिया के सब बच्चों से !
लाल और पीले, काले और गोरे,
वे आप की दृष्टी में बहुमूल्य हैं !
यिशु दुनिया के छोटे बच्चों से प्रेम करते हैं !
यीशु ने सब बच्चों के लिये अपना प्राण दे दिया, दुनिया के सब बच्चों के लिये !
लाल और पीले, काले और गोरे,
वे आप की दृष्टी में बहुमूल्य हैं !
यीशु ने दुनिया के सब बच्चों के लिये अपना प्राण दे दिया !

परमेश्वर दुनिया के हर व्यक्ति से प्रेम करता है - प्रोढ और बच्चे | इसी लिये उस के पास हर एक के लिये आश्चर्यजनक उपहार हैं | इस विषय पर हम पवित्र शास्त्र में लिखा हुआ पाते हैं :

“क्योंकि परमेश्वर ने दुनिया से ऐसा प्रेम रखा कि उस ने अपना एकलौता पुत्र दे दिया, ताकि जो कोई उस पर विश्वास करे, वह नाश न हो, परन्तु अनन्त जीवन पाए |” (यूहन्ना ३:१६)

परमेश्वर का प्रेम महान है | उस ने अपने पुत्र को दुनिया में भेजा ताकि वे हमारे पापों के लिये अपने प्राण दें | यीशु को गाड़ा गया, परन्तु तीन दिन के बाद, परमेश्वर ने आप को मरे हुए लोगों में से जिलाया | और अब वह तुम्हें प्रभु यीशु मसीह पर अपने उद्धारकर्ता और प्रभु के तौर पर विश्वास करने के लिये बुलाता है |

परमेश्वर की आवाज: “मैं तुझ से सदा प्रेम रखता आया हूँ ; इस कारण मैं ने तुझ पर अपनी करुणा बनाए रखी है |” (यिर्मयाह ३२:३)

क्या तुम परमेश्वर का बुलावा स्विकार करोगे ? तुम आनंदित होंगे और अब डरने का कोई कारण न होगा | परमेश्वर हमेशा तुम्हारे साथ है | उस के प्रेम का कभी अंत नहीं होता | क्या तुम्हारे मित्र यह जानते हैं ? उन्हें बताओ कि परमेश्वर उन से भी प्रेम रखता है |


लोग: वर्णन कर्ता, परमेश्वर की आवाज

© कॉपीराईट सी इ एफ जरमनी

www.WoL-Children.net

Page last modified on July 09, 2018, at 09:56 AM | powered by PmWiki (pmwiki-2.2.109)