STORIES for CHILDREN by Sister Farida

(www.wol-children.net)

Search in "Hindi":

Home -- Hindi -- Perform a PLAY -- 106 (The last stop 6)

Previous Piece -- Next Piece

नाटक -- अन्य बच्चों के लिए अभिनीत करो !
च्चों द्वारा अभिनय करने के लिए नाटक

106. रेखा का अन्त ६


दहनी ओर से न जाओ - एक मार्गी रास्ता - आगे मार्ग नहीं है - गाडी खड़ी न करो - दहनी ओर से न जाओ - रुक जाओ !

यातायात के चिन्हों के बिना हमारे शहर अव्यवस्थित हो जायेंगे | पथ प्रदर्शकों के बिना हमारा देश भूल भूलैयां बन जायेगा |

एक बड़ा राष्ट्र जंगल में भटकता रहा | वहाँ न मार्ग थे और न पगडंडियाँ | परन्तु वहाँ एक पथ प्रदर्शक था | वह बादल के खम्बे में छिपा हुआ था | परमेश्वर उन के आगे आगे चल रहा था | वह उन्हें मिस्र की दासता से निकाल कर वचन दिये हुए देश तक जाने के लिये मार्गदर्शन कर रहा था |

परमेश्वर के समान कौन है जो ठीक से मार्गदर्शन करता है ?

जब बादल का खम्बा रुक जाता तब लोग विश्राम कर सकते थे | जब वह दोबारा प्रयाण करता तब सारा राष्ट्र उस के साथ प्रयाण करता | रात के समय, आग का खम्बा मार्गदर्शन करता था जो रात को प्रकाशित करता था जो तेज प्रकाश से भी अधिक प्रकाश देता था |

परमेश्वर के समान कौन है जो ठीक से मार्गदर्शन करता है |

ईस्राएली: “खम्बा रुक गया है | हम यहाँ अपने तम्बू खड़े कर सकते हैं |”

ईस्राएली स्त्री: “सीधे लाल समुद्र के निकट | यह अच्छा है |”

बालक: “क्या हमें तैरने की अनुमति दी गई है ?”

ईस्राएली: “मुझे, मुझे स्पष्ट दिखाई नहीं दे रहा | मुड कर देखो |”

ईस्राएली स्त्री: “यह नहीं हो सकता | वे आ रहे हैं |”

ईस्राएली: “मिस्री हमारा शिकार करने आ रहे हैं ! अब हम इस में फंस गये हैं !”

ईस्राएली स्त्री: “मूसा; तुम हमें इस भयानक जंगल में क्यों लाये ?”

मूसा: “डरो नहीं ! हमारे परमेश्वर के समान कौन सा परमेश्वर है ? वह हमारे लिये लड़ेगा |”

अचानक एक बड़ा बादल ईस्राएलियों और मिस्रियों के बीच में प्रगट हुआ | शत्रु की ओर उस ने अंधेरा कर दिया परन्तु ईस्राएलियों की ओर प्रकाश डाला |

परमेश्वर के समान कौन है जो इस प्रकार सहायता कर सकता है ? उस के लिये कुछ भी असंभव नहीं है |

मूसा को परमेश्वर की ओर से एक लाठी दी गई थी, और उस ने उसे अपने हाथ में ले कर अपना हाथ लाल समुद्र पर बढ़ाया | (पानी के गडगडाने की आवाज)

ईस्राएली: “एक आश्चर्यकर्म ! वह देखो ! समुद्र के ठीक बीच में मार्ग दिखाई देता है |”

ईस्राएली स्त्री: “बांये और दायें पानी की दीवारें खड़ी हैं | परमेश्वर ने यह हमारे लिये किया |”

परमेश्वर के समान कौन है जो ऐसे आश्चर्यकर्म कर सकता है ?

यह पूर्णत : सत्य है : समुद्र के बीच में, एक सूखा मार्ग था | सब ईस्राएली इस मार्ग पर से चल कर उस पार पहुँच गये |

पहला मिस्री: “उन के पीछे चले जाओ | समुद्र के अन्दर का मार्ग हमारे लिये भी है |”

दूसरा मिस्री: “हे, गाडी के पहिये घूम नहीं रहे | हमारा विनाश होने को है | परमेश्वर हमारे विरुद्ध लड़ रहा है |”

यह मिस्रियों के अंतिम शब्द थे | दोनों ओर से पानी की दीवारें उन पर टूट पड़ीं | बाढ़ ने पूरी मिस्री सेना को डुबा दिया |

ईस्राएली: “बच गये ! हम बचाए गये ! हमारे परमेश्वर ने शत्रु पर हमेशा के लिये विजय पा लिया |”

प्रसन्न हो कर उन्हों ने परमेश्वर के लिये धन्यवाद का गीत गाया |


लोग: वर्णनकर्ता, ईस्राएली, ईस्राएली स्त्री, बालक, मूसा, दो मिस्री

© कॉपीराईट: सी इ एफ जरमनी

www.WoL-Children.net

Page last modified on July 31, 2018, at 08:34 AM | powered by PmWiki (pmwiki-2.2.109)