STORIES for CHILDREN by Sister Farida

(www.wol-children.net)

Search in "Hindi":

Home -- Hindi -- Perform a PLAY -- 166 (Does Terry have to die 4)

Previous Piece -- Next Piece

नाटक -- अन्य बच्चों के लिए अभिनीत करो !'ने के लिए नाटक

166. क्या तेर्री को मरना हि चाहिये ४


फ़िलिप: “रुथ, क्या तुम सोचती हो कि टेर्री मर जायेगा ?”

रुथ: “नहीं | मैं ने प्रार्थना की है कि यीशु उसे चंगा करें |”

फ़िलिप: “मैं ने भी प्रार्थना की परन्तु मुझे यह जानकारी नहीं है कि यीशु ने उसे सुना भी या नहीं |”

रुथ: “यदि तुम अच्छे चरवाहे की भेड़ों में से एक होते तो आप हमेशा तुम्हारी प्रार्थना सुनते |”

फ़िलिप: “वह कैसे होता है ?”

रुथ: “आप से कहो कि तुम आप के होना चाहते हो |”

रुथ ने अपने भाई को अच्छे चरवाहे की वह तस्वीर बताई जो पादरी ने उसे दी थि |

फ़िलिप बड़ी देर तक उस की ओर देखाता रहा |

फ़िलिप: “हाँ, मैं ऐसा करना चाहता हूँ | मुझे अकेला छोड़ दो |”

उस के तेजस्वी चहरे से तुरन्त प्रगट हुआ कि अब वह यीशु का हो चुका है | और टेर्री कि ओर से आये हुये पत्र ने दोनों बच्चों को बहुत ही प्रसन्न कर दिया |

प्रिय फ़िलिप | प्रिय रुथ | अब मैं अस्पताल में नहीं हूँ | कृपया आ कर मुझे मिलो | मेरा पता है, विल्डन वूड्स में छोटी नदी के किनारे, टहनियों से बनी हुई झोपड़ी | तुम्हारा टेर्री |

छोटी नदी के किनारे टहनियों से बनी हुई झोपडी | उन का मित्र गिरती पड़ती झोपड़ी में रहता है ?

फ़िलिप ने सावधानी से दरवाजे पर दस्तक दी | (दरवाजा खटखटाने की आवाज)

माँ: “तुम्हें क्या चाहिये ?”

रुथ: “टेर्री ने हमें बुलाया है |”

माँ: “क्या तुम वही बच्चे हो जो टेर्री के साथ थे जब उस का अपघात हुआ था ? अन्दर आ जाओ |”

टेर्री अपनी खाट पर निश्चल पड़ा हुआ था | वह बहुत ही दुबला और फीका दिखाई दे रहा था | जब उस ने अपने दो मित्रों को देखा तो रो पड़ा | फ़िलिप और रुथ को समझ में नहीं आ रहा था कि उस से किस विषय पर बात करें | कमरे में उदासी छाई हुई थी और वहाँ दम घुटता था |

टेर्री को बहुत पीड़ा हो रही थी | दोपहर के भोजन के समय उस ने एक प्याली चाय और रोटी का एक पतला स्लाइस खाया | फ़िलिप और रुथ ने कभी यह नहीं सोचा था कि टेर्री इतना गरीब है |

घर पर उन्हों ने ऑंटी मारग्रेट को सब कुछ बताया और टेर्री को हर दिन मिलने का निर्णय लिया |

फ़िलिप: “मैं उस के लिये अपना अलबम ले जाऊँगा जिस में जंगल के चित्र बनाए हुये हैं |”

रुथ: “और मैं सेब की एक थैली और उस के साथ एक पवित्र शास्त्र लाऊँगी जिस में अच्छे चरवाहे की कहानी है |”

फ़िलिप: “हम अपनी पिगी बैंक में से उस की माँ को ५ डॉलर देंगे ताकि वह टेर्री के लिये दूध खरीद सके |”

रुथ: “क्या तीन डॉलर बस नहीं होंगे ?”

फ़िलिप: “हम वह सब पैसे अपने साथ रखेंगे और मार्ग पर निर्णय लेंगे |”

और उन्हों न वैसा ही किया |

क्या तुम अंदाजा लगा सकते हो कि जंगल के बीच में मार्ग पर वे किस से मिले ?

यह तुम अगले ड्रामे में जान लोगे |


लोग: वर्णनकर्ता, फ़िलिप, रुथ, माँ

© कॉपीराईट: सी इ एफ जरमनी

www.WoL-Children.net

Page last modified on July 10, 2018, at 02:56 PM | powered by PmWiki (pmwiki-2.2.109)