STORIES for CHILDREN by Sister Farida

(www.wol-children.net)

Search in "Hindi":

Home -- Hindi -- Perform a PLAY -- 161 (Can the dead live 2)

Previous Piece -- Next Piece

नाटक -- अन्य बच्चों के लिए अभिनीत करो !
च्चों द्वारा अभिनय करने के लिए नाटक

161. क्या मृतक जी सकते हैं २


यदि यीशु तुम्हारी प्रार्थना का उत्तर तुम्हारी इच्छा के अनुसार न दें तो तुम क्या करोगे ? क्या तुम आप पर क्रोधित हो कर प्रार्थना करना छोड़ दोगे ?

मार्था का भाई मर गया था फिर भी उस ने ऐसा नहीं किया | अन्त में जब यीशु आ गये तब लाज़र को गाड दिया गया था |

मार्था: “यीशु, यदि आप इस से पहले आजाते तो मेरा भाई नहीं मरता था |”

यीशु: “लाज़र फिर जी उठेगा |”

मार्था: “मैं जानती हूँ कि अन्तिम दिन में पुनरुत्थान के समय जब परमेश्वर हर एक को जिलायेगा तब वह फिर जी उठेगा |”

यीशु: “पुनरुत्थान और जीवन मैं ही हूँ | जो कोई मुझ पर विश्वास करता है वह यदि मर भी जाये तौ भी जियेगा | क्या तू इस बात पर विश्वास करती है ?”

मार्था: “मैं विश्वास करती हूँ कि आप परमेश्वर के पुत्र हैं |”

यीशु पर विश्वास करना हमेशा सब से अच्छी बात होती है | यदि कभी कभी तुम आप को समझ नहीं पाते, फिर भी यीशु पर विश्वास करना हमेशा सब से अच्छी बात होती है |

मार्था भागती हुई अपने घर गई |

मार्था: “मरियम, यीशु तुम्हारी प्रतिक्षा कर रहे हैं |”

(दौड़ते हुए पाँव की आवाज) वह समझ न सकी कि उस के भाई को क्यों मरना था |

अपनी आँखों में आंसूं ले कर वह भागते हुये यीशु के पास गई |

मरियम: “हे यीशु, यदि आप यहाँ होते तो लाज़र न मरता था |”

यीशु: “तुम ने उसे कहाँ गाडा है ?”

मरियम: “मेरे साथ आईये और मैं आप को बताऊँगी |”

कई शोकपूर्ण लोग उन के साथ कब्र पर गये जिसे एक बडे पत्थर से बंद किया गया था | और वहाँ यीशु भी रोये !

आदमी: “आप रो रहे हैं | आप उस से बहुत प्रेम रखते थे |”

आदमी: “तब आप ने उसे मरने क्यों दिया ?”

यीशु: “पत्थर हटा दो |”

मार्था परेशान हो गई |

मार्था: “हे प्रभु, उसे मरे अब चार दिन हो चुके हैं | उस में से अब दुर्गंध आती होगी |”

यीशु: “मार्था, यदि तू मुझ पर विश्वास करेगी तो परमेश्वर की महिमा देखेगी |”

यीशु पर विश्वास करना हमेशा सब से अच्छी बात होती है, चाहे कुछ बुरा ही क्यों न हो जाये |

और जब तुम आप को समझ भी नहीं पाते तब भी यीशु पर विश्वास करना हमेशा सब से अच्छी बात होती है |

लोगों ने पत्थर हटाया | तब यीशु ने ऊपर देखा |

यीशु: “हे पिता, तू हमेशा मेरी प्रार्थना सुनता है | लाज़र! बाहर आ !”

एक आश्चर्यकर्म हुआ | मरा हुआ व्यक्ति कब्र में से उठ कर आ गया !

कई लोग, जिन्हों ने यह देखा था, यीशु पर विश्वास करने लगे | यीशु पर विश्वास करना हमेशा सब से अच्छी बात होती है, चाहे कुछ भी हो | क्या तुम यीशु पर विश्वास करते हो ?


लोग: वर्णनकर्ता, मार्था, यीशु, मरियम, दो आदमी

© कॉपीराईट: सी इ एफ जरमनी

www.WoL-Children.net

Page last modified on July 10, 2018, at 02:34 PM | powered by PmWiki (pmwiki-2.2.109)